ANM Syllabus

ANM stands for “Auxiliary Nursing Midwifery.” It is a healthcare training program that focuses on women’s health, maternal and child health, nursing care, and public health. The goal of ANM is to provide training in healthcare, particularly in underserved communities, with a focus on improving the health of women and children. After completing the ANM program, graduates are qualified to provide healthcare services as ANMs, primarily in rural and community health settings.

The syllabus for the ANM (Auxiliary Nursing Midwifery) program typically includes the following subjects and topics:

  1. Anatomy and Physiology: Basic knowledge of the human body’s structure and functions.
  2. Microbiology: Understanding of microorganisms and their role in health and disease.
  3. Nutrition: Knowledge of dietary requirements and nutrition for different age groups, especially for pregnant and lactating women.
  4. Community Health Nursing: Focus on community healthcare, including immunization, family planning, and health education.
  5. Child Health Nursing: Care and management of infants and children, including growth and development, common childhood illnesses, and immunization.
  6. Medical-Surgical Nursing: Basics of medical and surgical care, including wound care, infection control, and surgical procedures.
  7. Mental Health and Psychiatric Nursing: Understanding mental health issues, psychiatric disorders, and nursing interventions.
  8. Midwifery: Comprehensive training in childbirth, antenatal and postnatal care, and family planning.
  9. Professional Trends and Adjustment: Knowledge of professional ethics, communication skills, and career prospects.
  10. Health Education and Communication Skills: Techniques for effective health education and communication with patients and the community.
  11. Community Health Nursing II: Advanced community health topics, including disease prevention, healthcare management, and disaster management.
  12. Internship and Practical Training: Hands-on experience in healthcare settings, including maternal and child health centers, hospitals, and community health clinics.

Please note that the specific syllabus may vary depending on the educational institution and the regulatory body governing nursing education in your region. It’s essential to refer to the official curriculum provided by the institution offering the ANM program for precise details.

Introduction to Nursing

“Nursing” एक ऐसा महत्वपूर्ण क्षेत्र है जो स्वास्थ्य सेवाओं में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह एक पेशेवर क्षेत्र है जिसमें स्वास्थ्य सेवाओं के प्राप्तकर्ताओं को रोगियों की देखभाल और स्वास्थ्य सुधार करने में मदद करने का काम करना पड़ता है।

“Nursing” के कार्यक्षेत्र में नर्सेस या सहायक नर्स महिलाओं और पुरुषों को शामिल होते हैं, और उनका मुख्य उद्देश्य रोगियों की देखभाल करना और उनके लिए सही चिकित्सा प्रदान करना होता है।

“Nursing” क्षेत्र में काम करने वाले व्यक्तियों को रोगियों के साथ संवाद करने, उनकी आवश्यकताओं को समझने, उन्हें सही तरीके से चिकित्सा प्रदान करने और उनके साथ सहयोग करने की कौशल और ज्ञान की आवश्यकता होती है।

यह क्षेत्र स्वास्थ्य सेवाओं के प्रत्येक पहलू को समझने के लिए महत्वपूर्ण है, जिसमें सफाई, दवाओं की व्यवस्था, रोग प्रबंधन, और रोगियों के साथ संवाद करने के कौशल शामिल होते हैं।

“Nursing” एक बड़ी जिम्मेदारी होती है, और यह स्वास्थ्य सेवाओं में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है जो लोगों के स्वास्थ्य और देखभाल में सुधार करने में मदद करता है।

Health and Wellness

“स्वास्थ्य और बेहतरी” का अर्थ होता है एक व्यक्ति के शारीरिक, मानसिक, और सामाजिक तौर पर सभी पहलुओं में सुधार करना, ताकि वह जीवन का संतुलन और खुशी से जी सके।

यह समझने में महत्वपूर्ण है कि स्वास्थ्य और बेहतरी का सिर्फ शारीरिक स्वास्थ्य से ही सम्बंध नहीं होता है, बल्कि इसमें मानसिक स्वास्थ्य, सामाजिक आत्म-संबंध, और सामाजिक दृष्टिकोण भी शामिल होते हैं।

स्वास्थ्य और बेहतरी की दिशा में कई चीजें शामिल होती हैं, जैसे कि:

  • सही आहार: सही खानपान और पौष्टिक आहार स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है।
  • नियमित व्यायाम: नियमित शारीरिक गतिविधियाँ शारीरिक स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करती हैं।
  • मानसिक स्वास्थ्य: मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान रखना और स्ट्रेस को प्रबंधन एक बेहतर जीवन की ओर कदम बढ़ाता है।
  • नियमित चेकअप: नियमित चिकित्सा जांचें और टेस्ट स्वास्थ्य समस्याओं को पहचानने में मदद कर सकते हैं।
  • सोशल सपोर्ट: समर्थनीय साथी, परिवार, और समुदाय से मिलने वाला सामाजिक समर्थन स्वास्थ्य और बेहतरी को बढ़ावा देता है।

“स्वास्थ्य और बेहतरी” का मकसद होता है जीवन को सुखमय और संतुलित बनाना, ताकि व्यक्ति अपने पूरे संभाव को चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में भी सफलता पाएं।

Anatomy and Physiology

“शरीर रचना और शरीर विज्ञान” शरीर के संरचना और कार्यों का अध्ययन करने वाले विज्ञान क्षेत्र को दर्शाता है। यह दो अलग-अलग लेयरों पर शरीर के विभिन्न अंगों और तंतु-प्रणालियों की गहरी समझ प्रदान करता है जो हमारे शारीरिक स्वास्थ्य और कार्यक्षेत्र को संचालित करते हैं।

शरीर रचना और शरीर विज्ञान की शाखा में शरीर के विभिन्न हिस्सों का अध्ययन किया जाता है, जैसे कि शरीर के अंग, तंतु-प्रणालियाँ, और उनके कार्यों का अध्ययन किया जाता है।

शरीर रचना और शरीर विज्ञान का अध्ययन करने से हम शरीर के संरचना, कार्य, और विभिन्न अंगों के संबंध को समझ सकते हैं। इसके माध्यम से हम यह भी सीखते हैं कि शारीरिक स्वास्थ्य को कैसे बनाए रखा जा सकता है और कैसे किसी रोग का निदान और उपचार किया जा सकता है।

इस विज्ञान क्षेत्र का अध्ययन करने वाले छात्र और पेशेवर व्यक्ति शरीर के गहरे ज्ञान के साथ स्वास्थ्य सेवाओं में योगदान करने की क्षमता विकसित करते हैं और विभिन्न आरोग्य सेवा सेटिंग्स में काम कर सकते हैं।

Nutrition and Dietetics– पोषण और आहार विज्ञान

“पोषण और आहार विज्ञान” एक महत्वपूर्ण क्षेत्र है जो आहार और पोषण के माध्यम से स्वास्थ्य को सुनिश्चित करने के लिए अध्ययन करता है। यह विज्ञान क्षेत्र भोजन के प्रभाव को और बेहतर बनाने के उपायों को जांचता है ताकि लोग सही और पौष्टिक आहार ले सकें।

पोषण और आहार विज्ञान” में आहार, पोषण, और स्वास्थ्य के अंतर्गत विभिन्न पहलुओं का अध्ययन किया जाता है, जैसे कि:

  • आहार संचयन और योजना: आहार के अच्छे योजना और पूर्णता में योगदान करना जरूरी है।
  • पोषण की महत्वपूर्ण भूमिका: सही पोषण स्वास्थ्य और विकास के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है।
  • आहारी और आहारिक आदतें: लोगों की आहारी आदतें और आहार का अध्ययन किया जाता है ताकि सही दिशा में परिवर्तन किया जा सके।
  • पोषण के साथ बीमारियों का निदान और उपचार: आहार का सही रूप से उपयोग करके बीमारियों का निदान और उपचार किया जा सकता है।

“पोषण और आहार विज्ञान” के क्षेत्र में काम करने वाले पेशेवर व्यक्ति लोगों को स्वस्थ और पौष्टिक आहार के महत्व के बारे में शिक्षा देते हैं और उन्हें सही आहार चयन करने के लिए मार्गदर्शन प्रदान करते हैं, ताकि स्वस्थ जीवन जी सकें।

Microbiology and Hygiene– माइक्रोबायोलॉजी और स्वच्छता

माइक्रोबायोलॉजी और स्वच्छता” एक विज्ञान क्षेत्र है जो माइक्रोऑर्गेनिज्म्स और स्वच्छता के माध्यम से स्वास्थ्य के मामलों का अध्ययन करता है। माइक्रोबायोलॉजी में छोटे जीवाणु, जीवाणु, फंगस, और प्रोटोजोए जैसे माइक्रोऑर्गेनिज्म्स का अध्ययन किया जाता है जो बीमारियों और स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकते हैं।

“माइक्रोबायोलॉजी और स्वच्छता” क्षेत्र में स्वच्छता, संजीवन, और हाइजीन के माध्यम से संरक्षण और रोगों के प्रबंधन के उपायों का अध्ययन किया जाता है। यह विज्ञान क्षेत्र स्वच्छता और रोग प्रबंधन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और जीवाणु संरक्षण, सफाई तंतु, और हाइजीन के तरीकों का अध्ययन करता है जो लोगों को बीमारियों से बचाने में मदद करते हैं।

“माइक्रोबायोलॉजी और स्वच्छता” के क्षेत्र में काम करने वाले व्यक्ति स्वास्थ्य सेवाओं, खाद्य सुरक्षा, जल संवर्धन, और सामुदायिक स्वच्छता के क्षेत्र में कार्य करते हैं, ताकि स्वस्थ और सुरक्षित जीवन जी सके।

First Aid and Emergency Nursingप्राथमिक चिकित्सा और आपातकालीन नर्सिंग

प्राथमिक चिकित्सा और आपातकालीन नर्सिंग” वह क्षेत्र है जो आपातकालीन परिस्थितियों में मरीजों की चिकित्सा और नर्सिंग की जाती है। इसमें पहली चिकित्सा के तरीके, रोगी की आपातकालीन चिकित्सा की जरूरतों का मूल्यांकन, और चिकित्सा के दौरान उपयोग किए जाने वाले नर्सिंग के माध्यम से चिकित्सा का प्रबंधन शामिल होता है।

प्राथमिक चिकित्सा और आपातकालीन नर्सिंग” क्षेत्र में काम करने वाले पेशेवर व्यक्ति अपातकालीन परिस्थितियों में ठीक से प्रतिक्रिया करने की क्षमता विकसित करते हैं और उन्हें चिकित्सा के क्षेत्र में स्थायीता और निश्चितता के साथ काम करने की क्षमता होती है। वे चिकित्सा की पहली चरण में बचाव और चिकित्सा के दौरान मरीजों की सहायता करने के लिए प्रशिक्षित होते हैं। इसके अलावा, वे आपातकालीन स्थितियों में मरीजों को स्थानीय चिकित्सकों और अस्पतालों के पास पहुँचाने का काम भी करते हैं।

Community Health Nursing-सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग

“सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग” एक नर्सिंग क्षेत्र है जो समुदायों के स्वास्थ्य की देखभाल के क्षेत्र में काम करता है। इसमें सामुदायिक स्वास्थ्य प्रशासन, सामुदायिक स्वास्थ्य योजनाओं का निर्माण और संचालन, और सामुदायिक स्वास्थ्य सेवाओं के प्रबंधन की जाती है।

“सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग” क्षेत्र के नर्सिंग पेशेवर समुदायों में स्वास्थ्य संचालन और शिक्षा के क्षेत्र में काम करते हैं। वे समुदाय के लोगों को स्वास्थ्य और रोग प्रबंधन के माध्यम से शिक्षित करते हैं, स्वास्थ्य संचालन की योजनाएँ बनाते हैं, और स्वास्थ्य सेवाओं का प्रबंधन करते हैं ताकि समुदाय के लोग स्वस्थ और सुरक्षित रह सकें।

इस क्षेत्र के नर्सिंग पेशेवर समुदायों के साथ मिलकर समुदाय के स्वास्थ्य को सुनिश्चित करने के लिए कई प्रकार की स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करते हैं, जैसे कि वैक्सीनेशन, मातृ और शिशु स्वास्थ्य देखभाल, और बीमारियों के प्रबंधन में सहायक होते हैं। यह क्षेत्र समुदाय के स्वास्थ्य को सुधारने और बेहतर बनाने के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

Maternal and Child Health Nursing

मातृ और शिशु स्वास्थ्य नर्सिंग” एक नर्सिंग क्षेत्र है जो मातृ और शिशु की स्वास्थ्य की देखभाल के क्षेत्र में काम करता है। इसमें मातृ स्वास्थ्य, गर्भावस्था, प्रसूति, और शिशु की देखभाल के सभी पहलुओं का अध्ययन शामिल होता है।

“मातृ और शिशु स्वास्थ्य नर्सिंग” क्षेत्र में काम करने वाले पेशेवर नर्सेस मातृत्व स्वास्थ्य और शिशु स्वास्थ्य के क्षेत्र में स्वास्थ्य सेवाएँ प्रदान करते हैं। वे माताओं को गर्भावस्था के दौरान, प्रसूति के समय, और प्रसूति के बाद की सही देखभाल और समर्थन प्रदान करते हैं। उनका लक्ष्य माताओं और शिशुओं के स्वास्थ्य को सुनिश्चित करना होता है और उन्हें जरूरी जानकारी और स्वास्थ्य संज्ञान प्रदान करना होता है ताकि स्वस्थ और सुरक्षित जीवन जी सके।

मातृ और शिशु स्वास्थ्य नर्सिंग” क्षेत्र में काम करने वाले नर्सिंग पेशेवर गर्भावस्था से लेकर नवजात शिशु तक की स्वास्थ्य देखभाल के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इसमें गर्भावस्था की समय-समय पर देखभाल, प्रसूति के समय माताओं की सहायता और नवजात शिशु की सार्वजनिक स्वास्थ्य की देखभाल शामिल होती है।

नर्सिंग पेशेवर “मातृ और शिशु स्वास्थ्य नर्सिंग” क्षेत्र में माताओं को स्वास्थ्य जागरूकता दिलाने, प्रसूति के दौरान सहायता प्रदान करने, और प्रसूति के बाद नवजात शिशु की सही देखभाल के बारे में शिक्षा देते हैं। उनका महत्वपूर्ण काम होता है गर्भावस्था के दौरान मां की स्वास्थ्य की निगरानी करना, प्रसूति के समय सुरक्षितता सुनिश्चित करना, और नवजात शिशु को प्रारंभिक जीवन में आराम और सुरक्षा प्रदान करना।

इस क्षेत्र में काम करने वाले नर्सेस शिक्षा, साक्षरता, और जागरूकता के माध्यम से माताओं और शिशुओं के स्वास्थ्य को सुधारने में मदद करते हैं और समुदाय को स्वास्थ्य सेवाओं के उपयोग के फायदे के बारे में शिक्षित करते हैं। वे नवजात शिशु की देखभाल, पोषण, और अन्य स्वास्थ्य जानकारियों को प्राथमिक जरूरतों के आधार पर प्रदान करते हैं ताकि वे स्वस्थ और खुशहाल जीवन जी सकें।

Medical-Surgical Nursing

“चिकित्सा-शल्यक्रिया नर्सिंग” एक नर्सिंग क्षेत्र है जो चिकित्सा और शल्यक्रिया कार्यों के क्षेत्र में काम करता है। इस क्षेत्र में नर्सेस रोगियों की चिकित्सा के लिए विभिन्न चिकित्सा प्रक्रियाओं का सहायक होते हैं, जैसे कि सर्जरी, दवाओं का प्रबंधन, और रोगी की देखभाल के लिए स्थायीता प्रदान करते हैं।

“चिकित्सा-शल्यक्रिया नर्सिंग” क्षेत्र में काम करने वाले नर्सेस चिकित्सा प्रक्रियाओं की निगरानी करते हैं, रोगी को चिकित्सा सुझाव देते हैं, और सर्जरी के दौरान सर्जन की सहायता करते हैं। वे रोगी के लिए सही दवाओं का प्रबंधन करते हैं और उन्हें आपातकालीन चिकित्सा की आवश्यकता होने पर सहायता प्रदान करते हैं। इस क्षेत्र में काम करने वाले नर्सेस की भूमिका चिकित्सा प्रक्रियाओं के साथ ही रोगी के लिए भरपूर समर्थन और सहायता प्रदान करने में होती है, जिससे रोगी का चिकित्सा सफल हो सके।

Mental Health and Psychiatric Nursing

“मानसिक स्वास्थ्य और मानसिक नर्सिंग” एक नर्सिंग क्षेत्र है जो मानसिक स्वास्थ्य और मानसिक विकलांगता से जुड़े मुद्दों की देखभाल के क्षेत्र में काम करता है। इसमें मानसिक स्वास्थ्य विकलांगता की जांच, निदान, और उपचार के लिए सहायता प्रदान करना शामिल होता है, साथ ही मानसिक स्वास्थ्य सेवाओं का प्रबंधन भी होता है।

“मानसिक स्वास्थ्य और मानसिक नर्सिंग” क्षेत्र में काम करने वाले नर्सेस मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों की समझ, निदान, और उपचार में सहायता प्रदान करते हैं। वे मानसिक स्वास्थ्य विकलांगता के रोगियों के साथ काम करके उनके लिए आवश्यक समर्थन और सहायता प्रदान करते हैं, और मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों की जागरूकता फैलाने में भी मदद करते हैं।

इस क्षेत्र में काम करने वाले नर्सेस का महत्वपूर्ण काम होता है मानसिक स्वास्थ्य से जुड़े सामाजिक स्थितियों की समझना और रोगियों को उनकी मानसिक स्वास्थ्य को सुधारने के उपायों के बारे में सलाह देना। वे रोगियों के लिए एक सुरक्षित और सहानुभूति वाला माहौल बनाने का काम करते हैं, जिससे रोगियों का मानसिक स्वास्थ्य सुधार सके।

Midwifery-दायित्व

“दायित्व” नर्सिंग क्षेत्र का हिस्सा है जो मातृत्व स्वास्थ्य और प्रसूति के समय मां और शिशु की देखभाल के क्षेत्र में काम करता है। यह क्षेत्र माताओं के गर्भावस्था के दौरान, प्रसूति के समय, और प्रसूति के बाद की देखभाल को सुनिश्चित करने में सहायक होता है।

“दायित्व” क्षेत्र में काम करने वाले नर्सेस माताओं को गर्भावस्था के दौरान सहायता प्रदान करते हैं, प्रसूति के समय मां का समर्थन करते हैं, और प्रसूति के बाद नवजात शिशु की देखभाल करते हैं। उनका लक्ष्य होता है मां और शिशु की स्वास्थ्य को सुनिश्चित करना, सुरक्षित प्रसूति की सुनिश्चिता, और नवजात शिशु को सही देखभाल और समर्थन प्रदान करना।

इस क्षेत्र में काम करने वाले नर्सेस गर्भावस्था, प्रसूति, और नवजात शिशु की देखभाल के माध्यम से माताओं और शिशुओं के स्वास्थ्य को सुधारने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। वे माताओं को स्वास्थ्य संज्ञान और जरूरी जानकारी प्रदान करते हैं ताकि वे स्वस्थ और सुरक्षित जीवन जी सकें।

Nursing Education and Administration

“नर्सिंग शिक्षा और प्रशासन” एक नर्सिंग क्षेत्र है जो नर्सिंग शिक्षा और नर्सिंग कार्यों के प्रशासन और प्रबंधन के क्षेत्र में काम करता है। इसमें नर्सिंग के शिक्षा कार्यक्रमों का प्रबंधन, शिक्षा संस्थानों के प्रशासन, और नर्सिंग कर्मचारियों के प्रशासनिक कार्य शामिल होते हैं।

“नर्सिंग शिक्षा और प्रशासन” क्षेत्र में काम करने वाले पेशेवर नर्सेस नर्सिंग शिक्षा कार्यक्रमों के लिए पाठ्यक्रम तैयार करते हैं, शिक्षा संस्थानों का प्रबंधन करते हैं, और नर्सिंग कर्मचारियों की प्रशासनिक जरूरियाँ पूरी करते हैं। उनका उद्देश्य होता है नर्सिंग शिक्षा को सुधारना और नर्सिंग कर्मचारियों को स्वास्थ्य सेवाओं के प्रदान में मदद करना।

इस क्षेत्र में काम करने वाले नर्सेस नर्सिंग शिक्षा के क्षेत्र में नवाचार और उन्नतियों को प्रोत्साहित करते हैं, ताकि नर्सिंग के क्षेत्र में और बेहतर और समर्थन शिक्षा प्रदान की जा सके। उन्हें नर्सिंग कार्यक्रमों के लिए मानकों और दिशानिर्देशों का पालन करना होता है और शिक्षा संस्थानों के प्रबंधन के लिए जिम्मेदारी लेनी होती है।

Professional Ethics and Legal Aspects

“पेशेवर आचरण और कानूनी पहलु” नर्सिंग क्षेत्र का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है जो नर्सेस को पेशेवर आचरण और कानूनी मामलों के बारे में जागरूक करता है। यह क्षेत्र नर्सेस को उनके नैतिक और कानूनी दायित्वों के प्रति समझाने और उन्हें उनके पेशेवर आचरण में योग्यता बनाने का काम करता है।

“पेशेवर आचरण और कानूनी पहलु” क्षेत्र में काम करने वाले नर्सेस को नर्सिंग के पेशेवर आचरण के मानकों का पालन करने और मरीजों के साथ नैतिकता और ईमानदारी से काम करने के लिए मदद करने का काम होता है। वे नर्सिंग कानूनों और नियमों का पालन करते हैं और अपने पेशेवर कार्य में नैतिकता बनाए रखने का पर्याप्त सामग्री प्रदान करते हैं।

इस क्षेत्र में काम करने वाले नर्सेस का महत्वपूर्ण काम होता है मरीजों की गोपनीयता का संरक्षण करना और उनके अधिकारों का समर्थन करना, साथ ही उन्हें उनके स्वास्थ्य सेवा के मामलों में सहायता प्रदान करना। ये नर्सेस नर्सिंग मामलों के कानूनी पहलु के साथ ही नैतिकता के मामलों को भी समझते हैं और उन्हें सही और उचित दिशा में गाइड करते हैं।

Chapter Name

  1. Introduction to Nursing
  2. Health and Wellness
  3. Anatomy and Physiology
  4. Nutrition and Dietetics
  5. Microbiology and Hygiene
  6. First Aid and Emergency Nursing
  7. Community Health Nursing
  8. Maternal and Child Health Nursing
  9. Medical-Surgical Nursing
  10. Mental Health and Psychiatric Nursing
  11. Midwifery
  12. Nursing Education and Administration

Post Date and Time

Orgenization Name

Post Name

Number of Post

Apply Mode

Fee Payment Mode

Starting Date:

Last Date

Application Fee

GENERAL:

BC:

EBC:

SC/ST:

PH:

Apply Online

Click Here

Related Recruitment